संयुक्त राष्ट्र संघ क्या है | संयुक्त राष्ट्र संघ के अंग और सदस्य देश 2022

0
195
संयुक्त राष्ट्र संघ
संयुक्त राष्ट्र संघ

संयुक्त राष्ट्र संघ क्या है | संयुक्त राष्ट्र संघ के अंग और सदस्य देश

संयुक्त राष्ट्र व यूनाइटेड नेशन का नाम अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति फ्रैंकलिन डी रूजवेल्ट द्वारा प्रदान किया गया है। संयुक्त राष्ट्र की रूपरेखा का निर्माण करने के लिए बड़े रास्तों के प्रतिनिधियों का सम्मेलन 21 अगस्त 1944 ईस्वी को वाशिंगटन में हुआ था।

7 अक्टूबर 1944 तक चला। तत्कालीन सोवियत रूस के क्रीमिया प्रदेश के एटा नगर में 4 फरवरी 1944 को ब्रिटिश प्रधानमंत्री चर्चित सोवियत राष्ट्रपति स्टालिन तथा अमेरिका राष्ट्रपति का एक शिखर सम्मेलन हुआ जिसमें सुरक्षा परिषद में मतदान प्रणाली पर निर्णय किया गया।

संयुक्त राष्ट्र संघ की स्थापना 24 अक्टूबर 1945 ईस्वी को हुई थी संयुक्त राष्ट्र संघ के संस्थापक सदस्यों की संख्या 51 थी और 26 जून 1945 को घर पत्र पर केवल 50 राष्ट्रपति विधियों के हस्ताक्षर किए गए थे बाद में इस पर हस्ताक्षर करके पोलैंड का 51 वा प्रतिनिधि सदस्य बना।

वर्तमान समय में संयुक्त राष्ट्र संघ के सदस्यों की संख्या 193 है और संयुक्त राष्ट्र संघ का नया सदस्य दक्षिण सूडान है। संयुक्त राष्ट्र संघ का मुख्यालय न्यूयॉर्क शहर में है जो मैनहंटर द्वीप में बना है। इस जमीन को जॉन डी राक फेलर ने दान में दी थी इसी में इसका सचिवालय भी है संयुक्त राष्ट्र संघ का मुख्यालय 1952 में बनकर तैयार हुआ इसी महासभा की प्रथम बैठक 1952 में आयोजित की गई।

संयुक्त राष्ट्र संघ का ध्वज
संयुक्त राष्ट्र संघ के ध्वज की पृष्ठभूमि हल्की नीली है और उस पर श्वेत रंग से राष्ट्र संघ का प्रतीक बना है। दो जैतून के वर्गाकार शाखाओं जो ऊपर से खुली है और उनके बीच में का विश्व का मानचित्र है।

संयुक्त राष्ट्र संघ की भाषाएं

संयुक्त राष्ट्र संघ में कार्य करने वाली भाषाएं दोहे अंग्रेजी और फ्रेंच। इसके अलावा यहां पर अन्य भाषाओं को भी मान्यता दी गई है जैसे चीनी रशियन अरबी तथा स्पेनिश।

संयुक्त राष्ट्र संघ का बजट

संयुक्त राष्ट्र घोषणापत्र के अनुच्छेद 17 के अनुसार बजट पर विचार करने एवं उसे अनुमोदित करने की जिम्मेदारी महासभा की है। इसका नियमित बजट महासभा द्वारा हर दूसरे वर्ष अनुमोदित किया जाता है।

संयुक्त राष्ट्र संघ के अंग

  1. महासभा
  2. सुरक्षा परिषद
  3. आर्थिक एवं सामाजिक परिषद
  4. न्यास परिषद
  5. अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय
  6. सचिवालय

नोट नीदरलैंड में एक में स्थित अंतरराष्ट्रीय न्यायालय के अतिरिक्त सभी राष्ट्र की न्यूयॉर्क में स्थित है।

महासभा

इसमें सभी सदस्य देश के प्रतिनिधि शामिल होते हैं इसलिए इसे विश्व की लघु संसद भी कहा जाता है। प्रत्येक देश में 5 प्रतिनिधि भेज सकता है परंतु उसका वोट सिर्फ एक ही होता है। महासभा में महत्वपूर्ण प्रश्नों पर चर्चा की जाती है जैसे शांति एवं सुरक्षा से जुड़े मुद्दे, नए सामाजिक एवं नए सदस्य को जोड़ना बचत निर्णय के लिए दो तिहाई बहुमत की जरूरत होती है।

महासभा का नियमित सत्र हर साल सितंबर माह के तीसरे मंगलवार से शुरू होकर दिसंबर के मध्य चलता है। प्रतीक नियमित सत्र की शुरुआत पर महासभा के नए अध्यक्ष 21 उपाध्यक्ष और महासभा की साथ मुख्य समितियां किए अध्यक्ष का चुनाव होता है। सुरक्षा परिषद की संस्तुति पर अंतरराष्ट्रीय न्यायालय के न्यायाधीशों और नए सदस्य देशों की सचिव की नियुक्ति राजस्थान का बजट पारी करना आदि महासभा का कार्य है।

सुरक्षा परिषद

यह संयुक्त राष्ट्र संघ का मुख्यालय और एक प्रकार से कार्यपालिका है। संयुक्त राष्ट्र संघ की घोषणा पत्र के अनुसार अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा को बनाए रखना सुरक्षा परिषद का मुख्य जिम्मेदारी है बस 1 मुहावरे के रूप में से दुनिया का पुलिसमैन भी कहा जाता है। इसमें 15 सदस्य होते हैं जिनमें पांच सदस्य स्थाई और 10 सदस्य स्थाई होते हैं।पांच सदस्य स्थाई इस प्रकार है अमेरिका रूस ब्रिटेन फ्रांस और चीन।

आस्थाई सदस्यों का निर्वाचन अपने दो बहुमत से 2 वर्ष के लिए करती है। सुरक्षा परिषद के प्रत्येक सदस्य का एक वोट होता है प्रक्रिया संबंधित मामलों में निर्णय के लिए 9 सदस्य द्वारा सकारात्मक मतदान आवश्यक होता है। सोवियत संघ ने सबसे अधिक वीटो पावर का उपयोग क्या है अमेरिका ने वीटो का सर्वप्रथम प्रयोग मार्च 1971 में किया था।

संयुक्त राष्ट्र संघ क्या है | संयुक्त राष्ट्र संघ के अंग और सदस्य देश
संयुक्त राष्ट्र संघ क्या है | संयुक्त राष्ट्र संघ के अंग और सदस्य देश

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद का गठन जून 2006 में किया गया इसने मानव अधिकार आयोग का स्थान लिया। इस परिषद में कुल 47 सदस्य इस प्रकार चयनित किए गए एशिया13, देश, अफ्रीका से भी थर्टीन देश, पूर्वी यूरोप से 6 देश और पश्चिमी यूरोप से 7 देशों और अमेरिका एवं कैरेबियाई 8 देश।

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद सीधा महासभा के अधीन है जबकि मानव अधिकार आयोग संयुक्त राष्ट्र की आर्थिक एवं सामाजिक परिषद का अधीन था परिषद में सदस्यों का कार्यकाल ए 3 वर्ष के लिए निर्धारित किया गया है किंतु इसके एक कई सदस्य प्रतिवर्ष रिटायर होंगे इसका मुख्यालय से नावा में है। संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद के आने के बाद प्रथम याचिका नोबेल पुरस्कार विजेता एवं म्यांमार की लोकतंत्र वादी नेता आंग सान सू की ओर से दायर की।

आर्थिक एवं सामाजिक परिषद
वर्तमान में आर्थिक एवं सामाजिक परिषद के सदस्य संख्या 54 है इसके सदस्यों का कार्यकाल ए 3 वर्ष का है और यह एक स्थाई संस्था है परंतु इसके तिहाई सदस्य प्रतिवर्ष पद मुक्त होते हैं परंतु अवकाश ग्रहण करने वाले सदस्य पुनः निर्वाचित हो सकते हैं। आर्थिक सामाजिक परिषद की बैठक हर वर्ष अप्रैल में
तथा जुलाई में जेनेवा में होती है।

न्यास परिषद
संयुक्त राष्ट्र संघ ने राष्ट्र संघ के पिछड़े एवं अल्प विकसित देशों के लिए न्यास परिषद का गठन किया गया और इस संस्था के अनुसार विकसित देशों का पूरा उत्तर दायित्व है कि वे विकासशील देश की पूरी मदद करें इन देशों को राष्ट्र क्या न्याय भार सौंपा गया है वे ऑस्ट्रेलिया न्यूजीलैंड अमेरिका और इंग्लैंड है। जबकि रूस और चीन तथा फ्रांस को इसका सदस्य नहीं बनाया गया है।

सचिवालय
सचिवालय संयुक्त राष्ट्र संघ के दिन प्रतिदिन के कामों को निफ्ट आता है महासचिव होता है जिसे बटवारा सुरक्षा परिषद की सिफारिश पर 5 वर्ष की अवधि के लिए नियुक्त किया जाता है महासचिव को दोबारा भी नियुक्त किया जा सकता है। पत्र के अनुसार महासचिव संगठन का मुख्य प्रशासनिक अधिकार होता है। 2017 में पुर्तगाल के एंटोनियो गुटेरेस संयुक्त राष्ट्र संघ के नए महासचिव बने।

अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय
अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय की स्थापना एक नीदरलैंड में 3 अप्रैल 1946 को की गई थी अंतरराष्ट्रीय न्यायालय की की 5 अध्याय तथा 70 अनुच्छेद हैं। इस में न्यायाधीशों की संख्या 15 रखी गई है और इनकी नियुक्ति 9 वर्ष के लिए होती है प्रत्येक 3 वर्ष के बाद पांच न्यायधीश अवकाश ग्रहण करते हैं कोई दो न्यायधीश एक ही देश के नहीं हो सकते है।

अपनी ने एक अध्यक्ष तथा उपाधि को 3 वर्ष के लिए चुनते हैं राष्ट्रीय न्यायालय की सरकारी भाषा फ्रेंच और अंग्रेजी है।
राष्ट्रीय न्यायालय में भर्ती न्यायधीश बेनेगल राम राव, नागेंद्र सिंह, रघुनंदन पाठक और दलबीर सिंह भंडारी बने हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here